Partner sites : BJP विधायक की दबंगई, आरोपी को पुलिस हिरासत से छुड़ाया इन 4 राशियों पर मेहरबान रहती हैं मां लक्ष्मी, जीवनभर धनवान रहते हैं इन राशियों के जातक University Circle, News Desk 6794065000खरीदे Be part of Gaon Connection initiative... Privacy Policy (f)    Improved quality of life especially for women शहरवासियों के लिये सिरदर्द बने वाहन चालकों पर हो कार्यवाही Last update: 1 day ago इन उपायों से देर तक चलेगी फोन की बैटरी Employee Corner ऋणकर्ताओं की शिकायत निवारण योजना महिला IPS की शिकायत: IG गंदे वीडियो दिखाते हैं | NATIONAL NEWS अजमेर में भक्तों ने भोलेनाथ को नोटों से सजाया बस्तर शेर के पंजों की अफ़वाह से दहशत का मौहोल: मेडिकल कॉलेज रोड के पास धनुआ डेरा गांव की घटना,वन विभाग का अमला जांच में जुटा To Subscribe Newsletter and Get Updates. अल्ट्रा मेगा पावर परियोजनाएं Tiger Woods makes mediocre return to FedEx Cup playoffs कलेक्टर ने की पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग की समीक्षा जनपद पंचायत पन्ना के लापरवाह कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के दिए निर्देश पन्ना। रडार न्यूज   ... फ़ाइल अपलोड करें 20 Jun 2018, 10:47AM IST Like3 मैनुअल-16 & 17 06 Jul 2018, 01:07PM IST दिवाली खत्म होते ही महाराष्ट्र के लोगों को बिजली दर में बढ़ोतरी का झटका लगा है। बिजली बिल में बढ़ोतरी के लिए महाराष्ट्र विद्युत नियामक आयोग ने महावितरण को हरी झंडी दे दी है। बिल में बढ़ोतरी एक नवंबर से हुई है और अगले चार सालों तक 4 स्लैब के तहत बिजली बिल में बढ़ोतरी होगी। चालू वित्त वर्ष में 1.5 फीसदी, 2017-18 में 2 फीसदी, 2018-19 में 1.20 फीसदी और 2019-20 में 1.27 फीसदी कीमतों में बढ़ोतरी की जाएगी। फिलहाल एक यूनिट पर करीब 4 पैसे का बोझ बढ़ेगा, लेकिन चार सालों की बात करें तो ग्राहकों पर कुल 9141 करोड़ रुपये का बोझ बढ़ेगा। Konkan-in & around Copyright © 2018 Hindustan Media Ventures Limited. All Rights Reserved. महाराष्ट्र से बाइक पर सवार होकर हिमाचल पहुंचा ये शख्स (PICS) फिर भी, दोनों पक्षों से आपूर्ति काटना बंद हो रहा है, क्योंकि प्रांत ने 'कोई नई बिजली संयंत्र' नीति दोनों घोषित नहीं की है, साथ ही साथ सभी विद्यमान विद्युत संयंत्रों को प्राप्त कर लिया है। लेख के अनुसार: बरौनी- स्टेज एक 5.32 5.11 ब्‍लाक नं.8, शक्तिभवन, रामपुर, जबलपुर : पिन 482008. नई बिजली दरों की हुई घोषणा (प्रतीकात्मक फोटो) बिल्कुल नहीं, निजी कंपनियों के बढ़ते प्रभाव और  प्रतिस्पर्धा के चलते ही आज लोगों को अपनी सुविधा के लिहाज से कॉल करने की सुविधा मिल पा रही है। जिसकी एक दशक पहले तक भी कल्पना नहीं की जा सकती थी। अब अहम सवाल है कि यदि टेलीफोन सस्ता हो सकता है तो  रेलवे और बिजली क्यों नहीं ? सवाल यह भी है कि टेलीफोन कंपनियां यदि आज लोगों को कम दर पर कॉल की सुविधा दे रही है, तो क्या जनहित में भारी घाटा उठाकर। यदि नहीं तो प्रतिस्पर्धा का दौर शुरू होने तक विभाग  ने जो अनाप-शनाप पैसा उपभोक्ताओं से लिया, वह किस-किस की जेब में गया। दूरसंचार विभाग के अधिकारी से लेकर कर्मचारी तक यही कहते हैं कि सुखराम से लेकर राजा तक ने उनके विभाग का पैसा ही हजम किया, क्योंकि सबसे ज्यादा पैसा इसी में है। वे यदि कामचोरी करते हैं, तो इसमें गलत क्या है। इसी तर्ज पर रेलवे और बिजली विभाग का कायाकल्प किया जाए। बेशक जनता को सस्ते दर पर परिसेवा मिलने लगेगी। अहम सवाल है कि आखिर  आम जनता को  क्यों इन दोनों महकमों के लिए दुधारू गाय बनाकर रखा जाए, कि जब चाहा दूह लिया। जिस पर तुर्रा यह कि हर समय घाटे का रोना भी रोया जाता है। मानो ये दोनों  महकमे आम जनता पर कोई भारी एहसान कर रहे हों। इस संदर्भ में दिल्ली के नए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का बिजली कंपनियों का ऑडिट कराने का फैसला अभूतपूर्व, सराहनीय और ऐतिहासिक है। इसी तर्ज पर रेलवे के आय-व्यय का भी आकलन किया जाना चाहिए जिससे पता लगे कि आखिर किस मजबूरी में ये जब चाहे, किराया बढ़ाकर पहले से परेशान जनता की परेशानी और बढ़ाने का काम करते हैं। सरकार की सदिच्छा हो तो काफी कुछ बदल सकता है। करीब एक दशक पहले तक सरकारी या राष्ट्रीयकृत बैकों में एक साधारण ग्राहक खाता खुलवाने में पसीने छूट जाते थे। आज वहीं बैंक गली-मोहल्लों में शिविर लगाकर लोगों के खाते खोल रहे हैं। यह परिवर्तन भी किसी जादू की छड़ी से नहीं हुआ है। बैंकिंग व्यवसाय में विदेशी बैंकों के कूद पड़ने, समय के साथ सुधार और बैंकों को लाभ-हानि के प्रति जवाबदेह बनाने के चलते ही यह चमत्कार हुआ है।  इसी तरह से लोगों को सस्ती बिजली व बेहतर रेल परिसेवा भी मिल सकती है। बशर्ते इन विभागों में भी बैंक व टेलीफोन वाला फॉर्मूला अपनाया जाए और उन्हें जवाबदेह बनाया जाए। डिवीजन बेंच ने सुनवाई की और याचिका निरस्त कर दी 0.05 (0.07%) यह भी पढ़ें जेएनयू छात्र संघ का बजा चुनावी बिगुल, सात सितम्बर को होंगे मतदान बैंकिंग क्रम 152 पलामू Users Online: 0 Agriculture Bihar News Q देखें श्री राम नवमी समारोह फॉर्म uttarakhand news electricity rates increase upcl ‘नोटबंदी से सस्ती होंगी सौर बिजली की दरें’ गैर-पारंपरिक हाइड्रोकार्बन की खोज और दोहन के लिये नीति-रूपरेखाAug 02, 2018 नशा खरीदने को नहीं जुटे पैसे तो युवक ने उठाया... 22-Jan-2018 पावर ट्रांसमिशन कंपनी ने 13 कार्यालय सहायकों को दिया उच्च वेतनमान का लाभ आरके सिंह தமிழ் Money Today MARKET INDICATORS Rashifal 24 August 2018 : आपका दैनिक साप्ताहिक एवं मासिक राशिफल जानने के लिए यहाँ क्लिक करे नई बिजली दरों की हुई घोषणा (प्रतीकात्मक फोटो) राज्य चुनें 2 weeks ago @AamAadmiParty This exposure must reach in all parts of country, corrupt faces of cong & BJP must be unveiled, July 2018 सम्मेलन/सूचना National News बिजली की दरों में बदलाव के चांस कम सन्शोधन अन्य लोग संविधान M T W T F S S . कांटी- स्टेज एक4.86 4.79 नई दरों के बाद घरेलू बिजली की दरों में औसत तीन पैसे प्रति यूनिट का इजाफा हुआ है। 100 यूनिट पर पहले की तरह तीन रुपए बीस पैसे पर बिजली मिलेगी। वहीं 101 से 200 तक 3.45 रुपए प्रति यूनिट पर बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 3. 48 रुपए थी। 201 से 300 तक 4. 05 रुपए में बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 4.02 रुपए थी। 301 से 400 यूनिट खपत पर 4.21 रुपए में बिजली मिलेगी। पहले यह कीमत 4.25 रुपए थी। वहीं 401 यूनिट से ऊपर बिजली की खपत पर 4.21 रुपए पर बिजली मिलेगी।  संबंधित ख़बरे मेरा शहर राज्य बिजली कम्पनियों की प्रदर्शन रिपोर्ट Main menu दीपिका और रणवीर की शादी की तैयारियां शुरू, मां ने दे दिया पक्का सबूत फेडरर ने होपमैन कप में जीत से यादगार 2017 का किया समापन डाउनलोड Section संपन्न परामर्श - डीएसडी लचीली कोयला योजना के लिए ई-बोली बुनकरों को बिजली बिल की सब्सिडी अब सीधे खाते में 1500MVA लघु पथन प्रयोगशाला i अन्त्योदय राशन कार्ड ऊर्जा दक्षता तथा पुनर्नवीकरणीय ऊर्जा प्रभाग (ईआरईडी) जीतेंद्र मुछाल Zoom TV PRINT 22° / 32° हिमाचल विधानसभा ने दी अटल जी को श्रद्धांजलि इस प्रकार, चित्र में दिखाए गए अनुसार, तीन चरण के विद्युत नेटवर्क की सामान्य योजना का प्रतिनिधित्व किया जा सकता है। 4.3, जहां इसे माना जाना चाहिए ZN-\u003e अनंतता आईएनएस के मामले में   और जेडएन »आर 0 एसजेडएन के मामले में . 25 Jun 2018, 08:14AM IST 500 यूनिट से ऊपर 6.50 रुपए की दर से बिजली मिलेगी 5 हजार करोड़ रूपए जमा करने के बाद लागू करें योजना सस्ती बिजली देनेवाली कंपनी को ही तरजीह देगी बिहार सरकार कुश्ती/मुक्केबाजी/निशानेबाजी सिक्किम फेक न्यूजः वॉट्सऐप ने दिया सरकार को झटका परमाणु ऊर्जा नियामक परिषद (एईआरबी) नवांशहर/रूपनगर # uttar pradesh स्‍टेशन/कम्‍यूनिकेशन/ यू.पी.एस.- बैटरीज एवं बैटरी चार्जर अग्रवाल ने कहा, "बिजली दरों में 20 फीसदी बढ़ोतरी का प्रस्ताव था, लेकिन हम 12 फीसदी ही बढ़ोतरी को मंजूरी दे रहे हैं। वर्तमान में एक करोड़ 20 लाख बिजली उपभोक्ता हैं, 2018-19 में यह संख्या बढ़कर 4 करोड़ होने जा रही है। गरीबों को बिजली का मुफ्त कनेक्शन दिया जाएगा जिससे करीब 2 करोड़ उपभोक्ता बढ़ेंगे।" पानी की महा बचत- सिंचाई क्षेत्र में वृद्धि उद्यान विभाग द्वारा डिप सैट पर अनुदान दिये जाने का भी प्रावधान आसान शर्तों पर ऋण 10 से 15 वर्ष 11 माह की अनुग्रह अवधि की अवधि हेतु उपलब्ध। अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति प्रशिक्षण योजनाबाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं Katihar फ़ोटो गैलरी मुझे शिकायत है ... women's corner कुल्लू मुख्‍य सामग्री पर जाएं कब्‍ज से पाना हो छुटकारा, तो अपनाए ये उपाय… Shayari भाजपा (यहां क्लिक कीजिए और बन जाइए क्विंट की WhatsApp फैमिली का हिस्सा. हमारा वादा है कि हम आपके WhatsApp पर सिर्फ काम की खबरें ही भेजेंगे.) काकरापार परमाणु विद्युत परियोजना पृष्ठभूमि लोकरुचि Asian Games: कबड्डी में बदला इतिहास, पहली बार बिना गोल्ड के लौटेगी भारतीय टीम इसी क्रम में उनकी योग्यताओं का मूल्यांकन करते हुए छत्तीसगढ़ शासन व्दारा उन्हें ट्रांसमिशन कंपनी का प्रबंध निदेशक चयनित किया गया। इस पद के दायित्व के साथ ही अब वे होल्डिंग, जनरेशन और डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी की महिला डायरेक्टरों की जिम्मेदारी का निर्वहन करेंगी। करंसी प्ले: छुट्टियों के लिए तुर्की, बाली, न्यू जीलैंड जा रह... सामान्य अध्ययन मॉडल प्रश्नोत्तर त्योहारों के मौसम में फ्लिपकार्ट और अमेजॉन लेकर आ रही बिग सेल Raipur (3,617) अब आपको मिलवाते हैं कश्मीर की रहनेवाली इंशा बशीर से। इंशा बशीर इन दिनों चर्चा में हैं क्योंकि इन्होंने व्हीलचेयर पर होने के बावजूद कश्मीर के लिए बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया और अब इंशा बाकी युवाओं के लिए मिसाल बन गई हैं। डीएमएस नासिक मधुबनी: अश्लील गानों की बंद के मांग मे धरना देती जागरूकता... पावर परचेज मैकेनिजम : आरडब्लूए प्रतिनिधि अनिल सूद ने कहा कि बिजली कंपनियां सरप्लस बिजली किस रेट पर बेच रही हैं और किस रेट पर खरीद रही हैं, इसे ट्रांसपेरेंट होना चाहिए और पब्लिक स्क्रूटनी के लिए खुला होना चाहिए। अगर पावर एक्सचेंज में बिजली 3 रुपये प्रति यूनिट बिक रही है और दिल्ली की कंपनियां उसे 2 रुपये में बेच रही हैं तो पब्लिक इसकी मॉनिटरिंग करेगी और गड़बड़ी की गुंजाइश नहीं रहेगी। बतरस नाटक Search economictimes.indiatimes.com दंपत्ति की मौत, मासूम बचा बाल-बाल posted on August 24, 2018 नेशनल पावर एक्सचेंज लिमिटेड ANURAG THAKUR राष्ट्र में थर्मल ऊर्जा उत्पादन 344 गीगावाट व अक्षय ऊर्जा क्षमता 70 गीगावाट है. इसमें अधिकतम मांग वाले समय में उपलब्धता 173 गीगावाट रहती है. ऊर्जा खरीद समझौता नहीं होने के कारण एक एरिया से दूसरे एरिया में बिजली की आपूर्ति संभव नहीं हो पाती है. ऐसे में महंगी बिजली खरीदनी पड़ती है, जिसका सीधा प्रभाव उपभोक्ता पर भी पड़ता है . नये टैरिफ में उपभोक्ताओं की श्रेणी को बदला गया है. उपभोक्ताओं को पांच  श्रेणियों घरेलू, सिंचाई, व्यावसायिक,औद्योगिक और संस्थागत उपभोक्ता के रूप  में बांटा गया है PNB महाघोटाले के बाद नीरव मोदी को लगा एक और बड़ा झटका, अब हुआ फोर्ब्स की लिस्ट से बाहर यह भी पढ़ें शाहजहांपुर में टैंकर की चपेट में आकर तीन लोगों की मृत्यु, दो घायल म.प्र. माध्यम फोटो गैलरी ‘वरलक्ष्‍मी’ की पूजा का यह है खास महत्व, इसलिए घर-घर में होती है पूजा  Commenting Cashback on offer price: 2000 27 अगस्त से मंगल हो रहे हैं मार्गी, 5 राशियां रहेंगी सबसे ज्यादा भाग्यशाली # up top कार्यालय कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) म.प्र.पा.जन.कं.लि. घरेलू (शहरी) (डीएस एचटी) 3.50  5.25 कांगड़ा धर्म-अध्यात्म भू संपर्कन प्रणाली अध्ययन – डीएसडी 9.       तमिलनाडु में द्वितीय यूएमपीपी  जुड़ेंगुरु एवं सीकर हिन्‍द गजट सबसे ज्यादा चर्चित September 2017 विशेष: अजमेर में भी अब परवान चढ़ने लगा छात्र संघ चुनाव का खुमार आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में भीषण सड़क हादसा, 6 लोगों की मौत 27 28 29 30 31   भारत(329),352 Stories You May Like तेज रफ्तार ऑल्टो ने तीन छात्राओं को कुचला, हालत गंभीर (PICS) # Electricity Department sports 09 Jul 2018, 12:41PM IST अलीबाबा के पैनल बोर्ड में आग, गनीमत रही कि शो खत्म हुआ ही था, बच्चे बाहर जा चुके थे Mirror Now इसका कारण डिवाइस संपर्कों के संचालन में समय अंतर था, जो मिलीसेकंड की एक इकाई है। लेकिन अगर तटस्थ तार में पहली यात्रा संपर्क, घरेलू के शरीर पर इन्सुलेशन के टूटने उपकरण उपभोक्ता पूर्ण चरण वोल्टेज के तहत है, इसलिए है कि कई मिलीसेकंड मौत का कारण बन करने के लिए पर्याप्त था। ड्राइविंग टेस्ट में भूल रहे गेयर-ब्रेक लगाना! इमारत में तीन चरण शक्ति इनपुट तीन आपूर्ति चरणों की आवश्यकता है, एल 1, एल 2, एल 3, और एक तटस्थ कंडक्टर एन निरूपित किया दर्जा काम कर रहे वोल्टेज कंडक्टर चरणों में से किसी जोड़ी के बीच 380 वी है, और provodom- "शून्य" और चरण कंडक्टर से प्रत्येक के बीच - 220 तीन चरण नेटवर्क योजना के बी का प्रयोग करें उपकरण 220 या 380 वोल्ट का वोल्टेज के साथ बिजली उपलब्ध कराने के लिए अनुमति देता है। बिजली के तारों से आ परियोजना के अनुसार आवास पर रखा जाता है। सबसे कम बिजली दरों - ऊर्जा प्रदाता बदलें सबसे कम बिजली दरों - गैस और इलेक्ट्रिक की तुलना करें सबसे कम बिजली दरों - विद्युत प्रदाता चुनें
Legal | Sitemap