वालीवुड FP Staff Updated On: Mar 28, 2018 10:00 PM IST India भारत से बांग्लादेश को किये जाने वाले विद्युत निर्यात में उस समय वृद्धि हुई, जब सितम्बर, 2013 में 400 केवी क्षमता का पहला सीमापार इंटरकनेक्शन चालू हुआ। इसी तरह भारत में सुर्जामणिनगर (त्रिपुरा) और बांग्लादेश में दक्षिण कोमिल्ला के बीच दूसरा सीमापार इंटर-कनेक्शन चालू होने के बाद भारत के निर्यात में और बढ़ोतरी हुई। 132 केवी काटिया (बिहार)-कुसाहा (नेपाल) और 132 केवी रक्सौल (बिहार)-पार्वाणीपुर (नेपाल) सीमापार इंटरकनेक्शन चालू हो जाने के बाद नेपाल को किये जाने वाले विद्युत निर्यात में करीब 145 मेगावाट की वृद्धि होने का अनुमान है। Aug 22, 2018, 02.33 PM IST हताश हर्षद की हवालात में जूतों के सिरहाने पहली रात 0:53 Cashback on offer price: 3135 TEL AVIV, AUG 24:- People enjoy themselves along the shore of the Mediterranean Sea during the Muslim holiday of Eid al-Adha at a beach in Tel Aviv, Israel August 23, 2018. REUTERS-9R टैलीकॉम खाने की आदत VIDEO: भाजपा पार्षद को नेतागिरी करना पड़ा महंगा, महिलाओं ने जमकर की धुनाई कक्षा कार्यक्रम 3699035990खरीदे निवेशकों को बढ़ाने के लिए आत्मविश्वास, जोखिम धारणा को कम करने और प्रतिस्पर्धी बोली के लिए अच्छी प्रतिक्रिया मिल , पीएफसी स्पेशल प्रत्येक यूएमपीपी बिजली की खरीद (लाभार्थी ) राज्यों की ओर से बोली लगाने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए उद्देश्य वाहन (एसपीवी) को शामिल किया गया । एसपीवी के उद्देश्य को बोली प्रक्रिया के प्रबंधन के लिए बाहर ले जाने और परियोजनाओं के लिए विभिन्न अनुमतियां / स्वीकृतियां प्राप्त इतना है कि एक ही एसपीवी , जो टैरिफ आधारित अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धात्मक बोली के माध्यम से चयन किया जाता है के साथ सफल बोली लगाने के लिए स्थानांतरित कर रहे हैं करने के लिए है (आईसीबी) के अनुसार , वितरण लाइसेंसधारियों और पावर, भारत सरकार के मंत्रालय द्वारा जारी द्वारा बिजली की खरीद के लिए बोली लगाने की प्रक्रिया द्वारा टैरिफ के निर्धारण के लिए दिशानिर्देश के रूप में समय -समय पर संशोधित राजपत्र 5 हजार करोड़ रूपए जमा करने के बाद लागू करें योजना Report By Udaipur Kiran चित्तौड़गढ़ Categories 23-Aug-18 02:32 Terms & Conditions Back Top July 25, 2018 at 8:35 pm 3 weeks ago Also Watch Distributed By My Blogger Themes | Design By Herdiansyah Hamzah धार्मिक कथा Privacy Policy अरावली प्लांट : अरावली पावर प्लांट हरियाणा और दिल्ली ने मिलकर बनाया है। इससे 50 पर्सेंट बिजली दिल्ली को मिलती है। लेकिन एक्सपर्ट का कहना है कि इसकी कॉस्ट बहुत ज्यादा है और एक यूनिट करीब 5 रुपये की पड़ती है। अभी दिल्ली को इसकी जरूरत नहीं है तो कुछ वक्त के लिए इसे रीअलोकेट किया जा सकता है क्योंकि अभी इसका खर्च भी पावर टैरिफ में ही जुड़ता है। back home Page Not Found. फ़ोटो गैलरी प्रेषित समय :10:44:08 AM / Sat, Mar 31st, 2018 यूरोपियन यूनियन ने लगाया हैलोजन बल्ब पर बैन, जानें वजह और क्या पड़ेगा लोगों पर इसका असर Reddit पर्यटन 新加坡 - 简体中文 दस्तावेज़ कौन बनेगा आगरा का मेयर, यहां पढ़िए मुस्लिमों के जवाब ऑनलाइन भुगतान पर कुल बिल का एक फीसदी या अधिकतम 250 रुपये तक की छूट दी जायेगी.  वृषभ स्‍नेहक तेल प्रयोगशाला फुटबॉल तीन चरण मशीन पर, एकल चरण के विपरीत, दो से चार डंडे के बजाय, तटस्थ कंडक्टर उपकरणों के दोनों प्रकार के माध्यम से गुजरता है के बाद से। एक तीन चरण RCD का ऑपरेटिंग सिद्धांत सिंगल फेज की तरह ही है। कैलेंडर 2018 आज का राशिफल क्या होगी प्रभारी डीएचओ डॉ.धर्डे की गिरफ्तारी! posted on August 24, 2018 Electronics छत्तीसगढ़ सहज बिजली बिल योजना 2018 – मुफ्त बिजली योजना बवाना का बोझ : बवाना पावर प्लांट गैस न मिलने की वजह से बंद है। तब भी इसकी फिक्स कॉस्ट काफी आती है और यह खर्चे में जुड़कर कंज्यूमर तक ही पहुंचती है। या तो इस प्लांट के लिए गैस का इंतजाम कर इसे पूरी क्षमता से इस्तेमाल किया जाए या फिर फिक्स कॉस्ट सरकार वहन करे। श्री रुप नारायण झा ने कहा कि विद्य्नुत विभाग यदि अपनी लाइन लॉस को रोक लेते हैं तो विधुत दर नहीं बढाना पड़ेगा। ।ठ स्विच को बढ़ाने की अवश्यकता है। दुमका के चेंबर ऑफ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष श्री सियाराम घड़िया ने कहा कि विभाग की कमी से विद्य्नुत दर बढ़ रही है, इस पर ध्यान देने की जरुरत है। विद्य्नुत की लॉस कम करने की जरुरत है। 12.50 लाख मीटर लगाने की शुरुआत बहुत अच्छी पहल है। इससे विद्य्नुत लॉस का पता चल पाएगा। 11:14 सरताज अजीज के पत्र के बिना ही PoK के युवक को इलाज के लिए वीजा उन्होंने कहा कि मांग आधारित टैरिफ तीन फेज यथा एनडीएस 2, एनडीएस 3 एवं एलटीआईएस 2 उपभोक्ता श्रेणियों में आवश्यक किया गया है। नेगी ने बताया कि उपभोक्ता के अग्रिम भुगतान पर एवं प्रीपेड मीटरयुक्त उपभोक्ता के लिए सूद मिलने की स्वीकृति दी गई है। उन्होंने कहा कि कुटीर ज्योति बीपीएल (ग्रामीण) के लिए संबंध भार की सीमा बढ़ाकर 100 वाट की गई है। इस अवसर पर आयोग के दो अन्य सदस्य राजीव अमित और एससी झा भी उपस्थित थे। बीज ग्राम योजनाबाहरी फ़ाइल जो एक नई विंडों में खुलती हैं 6. राजधानी एक्सप्रेस में बुजुर्ग को चूहे ने काटा, साढ़े तीन घंटे निकलता रहा खून iOS लातेहार लाइफ स्टाइल « Jul     Delhi News CRITICSUNION बिजली-सड़क-पानी Português CABINET MEETING भूषण पावर के लिए लिबर्टी हाउस ने लगाई 26 हजार करोड़ की बोली Updated Apr 28, 2018 | 12:22 IST | टाइम्स नाउ डिजिटल संथाल परगना नुकलातोंग की फर्जी मुठभेड़ : सुरक्षा बलों की भारी अडंगो के बाबजूद पत्रकारों की टीम रातभर पैदल चलकर गोमपाड़ पहुची . : लिंगा राम कोडोपी . क्रमांक ब्यौरे यूएमपीपी की संख्या चोरी रोकने के गैजट लगे हों तभी होगा गाड़ियों का रजिस्ट्रेशन? Chhattisgarh News ऐसे में उपभोक्तओं को 2 रुपये 66 पैसे की दर से बिजली मिलेगी। जबकि अभी 7 रुपये 75 पैसे की दर से सामान्य बिजली खरीद रहे हैं। ऐसे में उपभोक्ता प्रति यूनिट पांच रुपये की बचत कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि इस प्लांट से सोसाइटी को करीब 25 लाख रुपये की बचत होने वाली है, यदि इस प्लांट की क्षमता को ढाई गुना कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि इस सोसायटी में 400 परिवार रहते हैं और हमें उम्मीद है कि प्रति वर्ष इन्हें 6 हजार रुपये की बचत होने वाली है। जामिया के लाल का कमाल, 25 छात्रों ने किया यूपीएससी क्वालीफाई हमारे ग्राहक - पानी की बचत, असमतल भूमि पर भी खेती सिंचाई क्ष्त्रो का विस्तार, फव्वारे द्वारा सिंचाई के साथ ही फसलों पर कीटनाशक दवा का छिड़काव भी संभव- अनुदान योग्य केसेज में अनुदान सुविधा ऋण 10 से 15 वर्ष 11 माह की अनुग्रह अवधि की अवधि । लेखपालों की मांग पर सीएम योगी ने लगाई मुहर, शासनादेश जारी अटल जी की अस्थियां पहुंची रांची, निकाली जा रही अस्थि कलश यात्रा August 11, 2018 सीटीपीपी बिजली कंपनी के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक प्रत्यय अमृत व एनटीपीसी के सीएमडी गुरदीप सिंह ने संयुक्त प्रेस वार्ता में कहा कि 17 अप्रैल को कैबिनेट ने इन बिजली घरों को एनटीपीसी को देने पर सहमति दी थी। एमओयू पर हस्ताक्षर एनटीपीसी के डायरेक्टर कॉमर्शियल एके गुप्ता व कंपनी के प्रबंध निदेशक आर लक्ष्मणन ने किया। करार होने के बाद बरौनी से 684 करोड़ , कांटी से 54.69 करोड़ और नवीनगर से 136 करोड़ कुल 865 करोड़ सालाना बचत होगी। करार के समय मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह, सीएम के प्रधान सचिव चंचल कुमार, सचिव अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा, विशेष सचिव अनुपम कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। यह जानकारी उपमहाप्रबंधक (जनसंपर्क) विजय मिश्रा ने दी। उन्होंने बताया कि अभ्यर्थियों के मार्गदर्शन के लिए पॉवर कंपनी द्वारा मॉक टेस्ट के लिए लिंक कंपनी की वेबसाइट पर उपलब्ध कराई गई है। राज्य भर के 6 शहरों रायपुर में 08 केन्द्र, दुर्ग-भिलाई में 10, बिलासपुर में तीन तथा राजनांदगाँव,अंबिकापुर और जगदलपुर में एक- एक केन्द्र बनाए गए हैं। दो दिनों तक दो पालियों में सुबह 9 से 11 बजे तथा दोपहर 12.30 से 2.30 तक परीक्षा आयोजित की गई है। प्रेस विज्ञप्ति खेलकूद निर्वाचन क्षेत्र Have an account? Log in योजना ट्रांसफार्मर, तार और मीटर जैसे उपकरणों पर सब्सिडी प्रदान करेगी। यह भी पढ़ें By Kamlesh Bhatt पाक पीएम इमरान खान से बोले सिद्धू, 'क्यों न IPL-PSL के विजेताओं में हो जाए मुकाबला', मिला यह जवाब डिस्क्लेमर Recent Comments 8. सुपर 30 का दबदबा कायम आईआईटी प्रवेश परीक्षा में 26 छात्र सफल IM भविष्‍य निधि विवरण MADHYAPRADESH NATIONAL POLITICAL BHOPAL CRIME BUSINESS KARMACHARI JABALPUR INDORE GWALIOR ADMINISTRATIVE INTERNATIONAL EDUCATION BOLLYWOOD CAREER EDITORIAL RELIGIOUS SPORTS LEGAL TECHNOLOGY धरती के रंग KHULAKHAT HEALTH Follow us on :- Travel Watch us at हिन्दुस्तान टीम 15-05-2018 इतिहास मुखपृष्ठ को लौटें। तिमाही अनुपालन सब्सक्राइब न्यूज़लेटर दिल्‍ली आज तक ब्‍यूरो श्री इकबालसिंह गांधी ने कहा कि हमारे प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रदेश की जनता के विकास के लिये निरन्तर कार्य कर रहे हैं। प्रदेश के गरीब तबके के लोगों के जीवन स्तर को उठाने के लिये सरकार द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। जन्म से लेकर मृत्यु तक की योजनाओं का लाभ जनता को मिल रहा है। बैंकिंग और लोन कौन हैं हनुमा विहारी, जिन्हें अचानक मिली भारतीय टीम में जगह? Jalandhar Search for: खुल्लम खुल्ला स्टडी मोटिव इस संबंध में, ट्रांसफार्मर ही और इलेक्ट्रॉनिक RCD छोटे आयाम और क्षमता। एम्पलीफायर सर्किट के साथ मॉड्यूल सीमा तत्व एक नियंत्रित द्वारा संचालित है, और अगर अपने बिजली की आपूर्ति सर्किट कंडक्टर टूटना पाए जाते हैं, इस तरह के एक उपकरण दक्षता खो देंगे। इलेक्ट्रॉनिक आरसीडी के संचालन में अन्य जोखिम हैं। उदाहरण के लिए, आवेग अधिक वोल्टेज के साथ अपने इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की विफलता। रक्षाबंधन पर दिल्ली से एनसीआर के लिए चलेंगी 6 महिला स्पेशल रेलगाड़ियां यहां क्लिक करें Content Settings > Notifications > Manage Exceptions Click here to read ePaper नीतीश कुमार ने कहा कि एक सोची समझी रणनीति के तहत वर्ष 2017-18 में टैरिफ याचिका को शून्य अनुदान पर तैयार कराया गया है. इस नीतिगत निर्णय के आधार पर आयोग ने बिना अनुदान के  टैरिफ लागत का निर्धारण किया. इससे राज्य सरकार को उपभोक्तावार  अनुदान की राशि तय करने में पारदर्शिता लाने में मदद मिलेगी. साथ ही वितरण कंपनियों की टेक्निकल व कॉमर्शियल लॉस में निरंतर कमी लाने के लिए गहन माॅनीटरिंग की जा सकेगी. नये वर्ष के लिए आयोग ने टैरिफ निर्धारित करते समय पड़ोसी राज्य पश्चिम बंगाल अौर उत्तर प्रदेश के 2016-17 के टैरिफ से तुलना करते हुए राज्य के उपभोक्ताओं को दी जानेवाली सब्सिडी का निर्धारण किया है.  लाभप्रदता और वृद्धि सकल लाभ मार्जिन (%)13.4911.07-112.4759.53परिचालन लाभ मार्जिन (%)21.6725.63-109.5377.27शुद्ध मुनाफा मार्जिन (%)8.44-11.90-136.8154.95 महाराष्ट्र                             100                 6.10 रुपए विद्युत उपलब्धता में 23% वृद्धि  Related Videos एम.एस. ई.आर.डब्‍ल्‍यू. ऐश स्‍लरी हैंडलिंग पाईप्‍स जशपुर August 18, 2018 at 8:07 am अब लोगों को चाहिए बड़ी कार, समझिए मारूति सुजुकी के इन आंकड़ों से Ranchi अक्षय कुमार दुनिया में सबसे ज्यादा कमाई करने... Copyright © 2018 Live Cities. All rights reserved. भदोही परीक्षा उपयोगी पुस्तकें (सामान्य अध्ययन) साहित्य श्रीलंका ने दक्षिण अफ्रीका को 3 विकटों से हराया App Download इसके साथ ही ग्रामीण इलाकों में बिजली की दरों में लगभग दोगुनी वृद्धि की गई है. ग्रामीण उपभोक्ताओं को अब 100 यूनिट तक 3.0 रुपये प्रति यूनिट, 100 से 150 यूनिट तक 3.50 रुपये प्रति यूनिट और 150 से 300 यूनिट के लिए 4.50 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से भुगतान करना होगा. दिव्यांगजन पेंशन MUKESH AGNIHOTRI Your name एकीकृत रिसोर्स प्लानिंग प्रभाग बिलासपुर : केरल त्रासदी की राहत के लिये सहयोग की अपील .: ट्रेडयूनियन कौंसिल और सामाजिक संगठन . Turn on Not now Gaurav Sharma Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g) हरियाणा में पहली बार बिजली कंपनियां घाटे से उबरकर लाभ की स्थिति में आई हैं। लाइनलॉस कम होने के साथ ही पिछले साल के 193 करोड़ रुपये के घाटे के विपरीत इस साल बिजली कंपनियों को 115 करोड़ रुपये का लाभ हुआ है। इससे जहां बिजली कंपनियां उत्साहित हैं, वहीं सरकार ने इसका लाभ उपभोक्ताओं को देने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल चाहते हैं कि बिजली के रेट कम किए जाएं, लेकिन साथ ही उन्होंने बिजली कंपनियों को निर्देश दिए हैं कि पहले उत्पादन की बाधाओं को दूर किया जाना चाहिए। Disclaimer Comment लोक​प्रिय Last updated:: 24/08/2018 - 11:26 AM power company jobs पैनल तथा बस डक्ट 0-50        2.65        6.15     संथाल परगना नागरिक अधिकार जल्द ही उड़ीसा में द��... 19-Aug-18 12:30 Gujarat Scheme दर्शनीय स्थल डलास में सस्ता बिजली - सस्ते उपयोगिताएं डलास में सस्ता बिजली - अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें डलास में सस्ता बिजली - सस्ता ऊर्जा प्रदायक
Legal | Sitemap